प्रधानमंत्री मुद्रा लोन योजना 2022 | PM Mudra Yojana in Hindi 

प्रधानमंत्री मुद्रा योजना 2022 (Pradhan Mantri Mudra Yojana kya hai) मुद्रा लोन कैसे मिलेगा, Mudra Loan Kaise Milega (ऑनलाइन फार्म)

नरेंद्र मोदी की सरकार ने कारोबार और रोजगार को विकसित करने और उन्हें प्रोत्साहित करने के लिए वित्तीय सहयोग की एक योजना का शुभारम्भ किया है इस योजना का नाम प्रधानमंत्री मुद्रा योजना है
इस योजना के माध्यम से सरकार ने लघु व्यवसायों को सस्ती ब्याज पर लोन उपलब्ध कराने के साथ ही नया व्यवसाय शुरू करने को इच्छुक युवाओं को प्रोत्साहित किया है |


प्रधानमंत्री
मुद्रा लोन योजना की स्थापना Pradhan Mantri Mudra Loan Yojana)

प्रधानमंत्री मुद्रा लोन योजना की स्थापना की घोषित अप्रैल 2015 को की गई थी मुद्रा बैंक वैधानिक अधिनियम के अंतर्गत स्थापित किया गया हैं जिसमे कुटीर उद्योगों के विकास की ज़िम्मेदारी प्रधानमंत्री मुद्रा योजना बैंक की होगी

मुद्रा लोन
योजना का लक्ष्य 

छोटे कुटीर उद्योगों को बैंक से आर्थिक मदद आसानी से नहीं मिलती वे बैंक के नियमो को पूरा नहीं कर पाते इस कारण वे उद्योगों को बढ़ाने में असमर्थ होते है इसलिए मुद्रा बैंक योजना शुरू की जा रही हैं जिसका मुख्य लक्ष्य युवा पढ़े लिखे नौजवानों के हुनर को मजबूत धरातल देना हैं साथ ही महिलाओं को सशक्त बनाना हैं

प्रधानमंत्री मुद्रा बैंक योजना की पात्रता (Pradhan
Mantri MUDRA Bank Yojana Eligibility)

मुद्रा योजना के तहत हर वो व्यक्ति जिसके नाम कोई कुटीर उद्योग हैं या किसी के साथ पार्टनरशीप के सही दस्तावेज हो या कोई छोटी सी लघु यूनिट हो वे इस मुद्रा बैंक योजना के तहत ऋण ले सकता हैं |

मुद्रा योजना के अंतर्गत लोन कैसे मिलेगा?

अगर कोई भी भारतीय नागरिक मुद्रा लोन योजना के तहत लाभ उठाना चाहता है तो उसे निम्न प्रक्रियाओं का पालन करना होगा

सबसे पहले ऋण प्राप्त करने को इच्छुक व्यक्ति को नजदीक के किसी बैंक में जाकर प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के लिए बैंक से संपर्क कर उनसे योजना का फॉर्म प्राप्त करना होगा

फिर ऋण आवेदन फॉर्म को भरकर साथ में मांगे गए कागजातों और आपके द्वारा किए जाने वाले व्यवसाय या फिर आप जिस किसी नए व्यवसाय को शुरू करना चाहते हैं, उसका विस्तृत विवरण प्रस्तुत करना होगा.

इसके बाद बैंक द्वारा निर्धारित सभी औपचारिकताओं को पूरा करना होगा

सभी औपचारिकताओं को पूरा करने के बाद आपका ऋण मंजूर होगा और आपको उपलब्ध कराया जाएगा

 प्रधानमंत्री मुद्रा लोन के लिए आवश्यक दस्तावेज

प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के अंतर्गत ऋण प्राप्त करने के इच्छुक आवेदक को अपने आवेदन के साथ निम्न दस्तावेजों को प्रस्तुत करना होगा

पहचान के लिए पैन कार्ड, आधार कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, वोटर आईडी कार्ड, पासपोर्ट में से किसी एक की स्वसत्यापित प्रतिलिपि

निवास प्रमाण के लिए वोटर आईडी कार्ड, आधार कार्ड, पासपोर्ट में से एक या फिर टेलिफ़ोन या बिजली का बिल की स्वसत्यापित प्रतिलिपि

अगर आवेदक अनुसूचित जाति/जनजाति या पिछड़ा वर्ग से है तो उसके प्रमाणपत्र की स्वसत्यापित प्रतिलिपि

व्यावसायिक इकाई से संबंधित लाइसेंस, पंजीकरण प्रमाणपत्र, स्वामित्व की पहचान आदि दस्तावेजों की प्रतिलिपि

आवेदक के लिए यह भी जरूरी है कि वह किसी बैंक या वित्तीय संस्थान का डिफाल्टर हो

अगर आवेदक 2 लाख और उससे ऊपर के ऋण के लिए आवेदन करता है तो उसे अपने पिछले 2 साल की आयकर विवरणी (Income
Tax Return)
और तुलन चिट्ठे (Balance Sheet) की प्रतिलिपि को प्रस्तुत करना होगा. शिशु वर्ग के ऋण के लिए यह अनिवार्य नहीं है.

अगर आवेदक बड़े स्तर पर नया व्यवसाय शुरू करना चाहता है या फिर अपने वर्तमान व्यवसाय का विस्तार करना चाहता है तो उसे व्यवसाय से संबंधित परियोजना रिपोर्ट को प्रस्तुत करना होगा. इस रिपोर्ट से व्यवसाय के तकनीकी और आर्थिक पहलुओं की जांच की जा सकेगी.

आवेदक को चालू वित्त वर्ष के दौरान उसके इकाई द्वारा की गई बिक्री और मुनाफेघाटे का ब्यौरा भी प्रस्तुत करना होगा.

अगर आवेदक कंपनी या साझेदारी फर्म है तो उससे संबंधित डीड या मेमोरेंडम की प्रतिलिपि प्रस्तुत करना होगा

आवेदन के साथ आवेदक को अपना 2 फोटो संलग्न करना होगा. (अगर आवेदक कंपनी या साझेदारी फर्म है तो उसके सभी निदेशकों या फिर साझेदारों की 2-2 फोटो संलग्न करना
होगा

मुद्रा
योजना के तहत लोन

का प्रावधान 

मुद्रा लोन योजना के तहत ऋण लेने वालों को तीन वर्गों में वर्गीकृत किया गया है. इस वर्गीकरण का आधार व्यवसाय के विभिन्न चरण हैं पहले चरण में, कारोबार शुरू करने वाले, दूसरे चरण में, मध्यम स्थिति में कारोबार को वित्तीय मजबूती प्रदान करने के लिए ऋण के तौर पर वित्त की तलाश और तीसरे चरण में वे हैं जो कारोबार को बढ़ाने के लिए अधिक पूंजी की की तलाश में हैं. इन तीनों वर्गों की जरूरतों को पूरा करने के लिए मुद्रा बैंक ने ऋण को निम्न तीन वर्गों में बांटा है

शिशु लोन इसके अंतर्गत 50 हजार रुपये तक के ऋण को निर्धारित किया गया है

किशोर लोन इसके अंतर्गत 50 हजार से 5 लाख रुपये तक के ऋण को निर्धारित गया है

तरुण लोन इसके अंतर्गत 5 लाख से 10 लाख रुपये तक के ऋण को निर्धारित किया गया है

मुद्रा
योजना के लाभ

इस योजना के कारण छोटे व्यापारियों का हौसला बढेगा जिससे देश का आर्थिक विकास होगा

इस योजना के कारण पढ़े लिखे नौ जवानो को रोजगार मिलेगा और उनका हुनर भी निखर कर सामने आएगा |

बड़े उद्योग केवल सवा करोड़ लोगो को रोजगार देते हैं लेकिन कुटीर उद्योग 12 करोड़ लोगो को

ऐसे उद्योगों को बढ़ावा देने से देश का पैसा देश में ही रहेगा और आर्थिक विकास होगा |

नयी नयी गतिविधियों का संचार होगा |

छोटे व्यापारियों का आत्मविश्वास बढ़ेगा जिससे प्रतियोगिता की भावना उत्पन्न होगी जो कि उनकी उन्नति में सहायक होगा |

देश का विकास अमीरों के विकास से नहीं अपितु गरीबो के विकास से होता हैं अत : इस दिशा में मुद्रा बैंक योजना एक अहम् फैसला हैं |  मुद्रा बैंक योजना की सोच बांग्लादेश देश के प्रोफ़ेसर युनूस की हैं जिसे उन्होंने वर्ष 2006 में   लागु किया था जिससे कुटीर उद्योग का विकास हुआ जिसके बाद अन्तराष्ट्रीय स्तर पर युनूस सहाब की प्रशंसा की गई |

अब वर्ष 2015 में मुद्रा बैंक योजना देश में लागु की गई हैं भारी त्रासदी के बाद देश को स्थिर करने के लिए कई योजनाये लागु की गई हैं जिनमे अहम् हैं

एस बी आई द्वारा मुद्रा
लोन की जानकारी (SBI Bank Gives Mudra Loans Details
)

स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया (SBI) भारत का सबसे बड़ा बैंक है। यह बैंक अब मुद्रा लोन देने लगा है। अभी अभी SBI ने पश्चिम बंगाल में करीब 80 छोटे छोटे उद्योग चलाने वाली महिलाओं को शिशु लोन दिया है। आप भी अपने नज़दीकी SBI में जा कर इस योजना की जानकारी ले। SBI से लोन लेना सब से कठिन माना जाता है क्यूकि वो पूरी जांच पड़ताल कर लेने के बाद ही लोन देते है। इसलिए SBI जाने के पहले अपने सारे दस्तावेज़ साथ ले जाना ना भूले।

अंततः कहा जा सकता है कि मुद्रा बैंक योजना देश के युवा वर्ग, पिछड़ा वर्ग, अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति के लिए वह समान अवसर है जिसके माध्यम से वह केवल अपनी योग्यता साबित कर सकते हैं बल्कि अपने जीवन में सुधार के साथसाथ देश के आर्थिक विकास में भी सक्रिय योगदान दे सकते हैं. इस योजना के संबंध में यह भी कहा जा रहा है कि अगर यह योजना सफल होती है और अपने लक्ष्य को भेद लेती है तो दुनिया सामने एक सक्सेस स्टोरी के तौर पर स्थापित हो जाएगी
इस योजना के तहत अब तक करीब 10 लाख लोगो लोन मिल चूका है।

लेटेस्ट रिपोर्ट के अनुसार, इस योजना ने अधिकतम 3.49 करोड़ नये व्यापारियों की मदद की है. इस योजना के तहत इसकी शुरुआत से आज तक, 12.27 करोड़ क्रेडिट मंजूर किये गये हैं. एक रिपोर्ट से यह भी पता चला है कि जुलाई 2018 तक, इस प्रोग्राम ने अधिकतम 61.12 करोड़ प्राप्तकर्ताओं को क्रेडिट की पेशकश की है.

प्रधानमंत्री मुद्रा लोन योजना क्या है?

इस
योजना के अंतर्गत जो लोग अपना नया व्यवसाय शुरू करना चाहते हैं उन्हें आसानी से लोन प्रोवाइड किया जाता है।

मुद्रा योजना में मुद्रा का क्या फुलफॉर्म हैं ?

माइक्रो यूनिट्स डेवलपमेंट रिफाइनेंस एजेंसी

मुद्रा लोन योजना कितने प्रकार की होती है

शिशु लोन किशोर लोन तरुण लोन

मुद्रा लोन के अंतर्गत शिशु लोन योजना में कितना पैसा लोन के रूप में दिया जाता है

₹50000 तक

मुद्रा लोन के अंतर्गत किशोर लोन योजना में कितना पैसा लोन के तौर पर दिया जाता है

50000 से
500000 तक

मुद्रा लोन के अंतर्गत तरुण लोन योजना में कितना पैसा लोन के तौर पर दिया जाता है

500000 से
1000000
रुपए तक

मुद्रा लोन योजना के लिए कहां अप्लाई करना होता है

बैंक में

By Neha

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *