Sania Mirza biography in hindi | सानिया मिर्जा जीवन परिचय

सानिया
मिर्ज़ा की जीवनी Saniya Mirza Biography, age, net worth, tennis history
retirement in Hindi

सानिया मिर्ज़ा सबसे सफल भारतीय महिला टेनिस खिलाडी है ,इन्होने अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर कई मैडल प्राप्त किए है और देश विदेश में भारत को रोशन
किया
है.

Sania Mirza biography in hindi | Sania Mirza Jivani | सानिया मिर्जा जीवन परिचय


Sania Mirza Jivani सानिया मिर्जा जीवनी

नाम
(Name)

सानिया
मिर्ज़ा मलिक

निक
नाम (Nick Name)

सानिया

कार्य
(Profession)  

टेनिस
प्लेयर

जन्म
तारीख (DOB)

15
नवम्बर 1986

आयु
(Age) ( 2018 )

35
वर्ष

जन्म
स्थान ( Birth Place )

मुंबई
,
महाराष्ट्र , इंडिया

राशी
( Zodiac Sign )

वृश्चिक

नागरिकता
( Nationality )

इंडियन

होमटाउन
( Home Town )

हैदराबाद

स्कुल
( School )

नसर
स्कूल , हैदराबाद

कॉलेज
( College )

सत
मैरी कॉलेज
,
हैदराबाद

धर्म
( Religion )

मुस्लिम

पता
( Address )

पाकिस्तान

हॉबी
( Hobbies )

स्विमिंग

शिक्षा
( Education Qualification )

ग्रेजुएट

मेरीटियल
स्टेटस ( Marital status )

वैवाहिक

शादी
की तारीख
( Marriage date )

12
अप्रैल
2010

Jagdeep Dhankhar new vice president of india

पारिवारिक जानकारी (Family Detail and Education)

·        
35 वर्षीय सानिया की
शिक्षा भले ही हैदराबाद की हो, परंतु इनका जन्म मायानगरी मुंबई का है. इनके जन्म के बाद इनके पिता को अपने काम के चलते स्थान परिवर्तित करना पड़ा.

·        
सानिया के
पिता श्री इमरान मिर्ज़ा है, इमरान पहले स्पोर्ट्स पत्रकार थे, फिर इन्होने प्रिंटिंग का बिसनेस शुरू किया और फिर निर्माता बन गए. इनकी माता का नाम नसीमा मिर्ज़ा था जो कि प्रिंटिंग उद्योग में कार्यरत थी

·        
सानिया की
आरंभिक शिक्षा खेराताबाद की नासर स्कूल से प्राप्त की . इन्हें इनके पिता ने इन्हें 6 साल उम्र से ही हैदराबाद के निजाम क्लब में भर्ती करवा दिया था. इतनी कम उम्र के कारण क्लब के कोच ने इन्हें सिखाने से मना कर दिया था . पिता के अनुरोध पर एक सप्ताह टेनिस खेलने के बाद कोच ने सानिया के माता पिता को बुलाया , और सानिया के टेनिस के हुनर की तारीफ की और प्रशिक्षण देना आरंभ किया .

·        
सानिया के
प्रथम गुरु टेनिस के खिलाड़ीमहेश भूपतिहै, इन्होने ही सानिया को टेनिस की आरमंभिक शिक्षा प्रदान की

·        
इन्होने सिकंदराबाद मेंसिनेटटेनिस अकादमी से
प्रशिक्षण प्राप्त किया , इसके बाद ये अमेरिका गई, वहा एस टेनिस अकादमीज्वाइन की .

 ध्यानचंद हॉकी के जादूगर का जीवन परिचय

संक्षिप्त में जानकारी
Short Detail

जन्म
तारीख (Date of Birth)

15
नम्बर 1986

उम्र
(Age)

35
वर्ष

माता
(Mother)

नसीमा
मिर्ज़ा

पिता
(Father)

इमरान
मिर्ज़ा

बहन
(Sister)

अनम
मिर्ज़ा

पति
(Husband)

शोएब
मलिक

सानिया मिर्जा की लव और मेरिज लाइफ (Sania Mirza and Shoaib
Malik Love and Marriage Life)

शोएब मलिक और सानिया मिर्ज़ा की लव स्टोरी में कई कठिनाइयों का सामना पढ़ा . इनकी पहली मुलाकात ऑस्ट्रेलिया में हुई . इनकी यह मुलाकात कोई इत्तफाक नही था , शोएब ने प्लान कर के सानिया से ऑस्ट्रेलिया में मुलाकात की थी . सोनिया एक बार आस्ट्रेलिया के एक रेस्तरा में गई थी, तब शोएब की टीम के एक मेम्बर ने इस बात की सुचना शोएब को फोन पर दी , और शोएब रेस्तरा में आए और फिर सानिया से मुलाकात की और इस मुलाकात को एक इत्तेफाक बताया. और इस तरह इन दोनों की मुलाकात होती रही . सानिया और शोएब जब अलग अलग देशो में खेलते थे, तब भी इनकी मुलाकात होती रहती थी . सानिया को शोएब की सादगी ने मोह लिया था . उन्हें अपनी नाम और पहचान पर कोई घमंड नही था. वे पाकिस्तान क्रिकेट टीम के वर्तमान सदस्य और पूर्व कप्तान थे . दोनों आपस में बातचित करते रहते थे और एक दुसरे के अच्छे दोस्त बन चुके थे . इसके बाद भी इन दोनों को ही  प्रेम का कोई आभास नही था . जब सानिया की माँ की मुलाकात शोएब से हुई, तब उन्हें शोएब बहुत पसंद आए. सानिया के परिवार को शोएब तो पसंद थे , लेकिन वे भारतीय नही है और पाकिस्तान के नागरिक है, जिससे राजनीतिक विवाद है  इस बात की उन्हें चिंता थी .

शादी के पहले सानिया ने इस बात की चर्चा की के उनके खेलने से शोएब को शादी के बाद कोई आपत्ति तो नही रहेगी . क्या शोएब के परिवार वाले इस बात के लिए राजी होंगे या नही , क्यों कि सानिया को खेल के लिए कई महीनो तक देश विदेश में घूमना पढता है . तब सानिया को पता चला कि  शोएब की माँ को सानिया बहोत पसंद है और उन्हें एसी  बहु परनाजहै . दोनों के परिवार में खिलाडी होने के कारण उन्हें बहुत सपोर्ट और मदद मिली .

शादी से इन्हें पहले धर्म समाज के कई विवादो का सामना करना पढ़ा . शादी के वक़्त दोनों परिवार बेहद परेशान थे उन्हें लग रहा था कि शादी होगी भी या नही . शादी की तारीख को आगे करने की सलाह दी गई, लेकिन शोएब इस बात के लिए राजी नही हुए , शोएब ने कहा जब तक सानिया से शादी नही कर लेंगे, यहाँ से कही नही जाएगे . सानिया की माँ पापा बहुत परेशान थे, सानिया की माँ टेंशन में दुखी हो कर रोने लगी . किसी को कुछ समझ नहीं रहा था. इस्लाम धर्म में शादी से पहले दूल्हा दुल्हन के घर पर नही रहता है , लेकिन शोएब सनिया के घर पर रुके थे, इस बात के लिए भी कई विवाद हुए. मीडिया सानिया के घर के बाहर तेनात हो गई , रात हो या दिन हर बात की मिडिया और न्यूज चेनल वाले निगरानी कर रहे थे . सानिया के घर वालो ने घर को बंद कर के  सारे परदे लगा कर रहना पढ़ रहा था . जैसे तेसे शोएब को मीडिया की नजरो से बचा कर पीछे के दरवाजे से होटल पहुचाया गया और इस समस्या का निराकरण किया गया .

कई मुसीबतों के बावजूद इनका मिलना तय था और दोनों ने अप्रैल 2010 को निकाह कर लिया और एक पवित्र बंधन में बंध गए .

भारत के नए राष्ट्रपति की जीवनी

 Sania Mirza tennis
history

सानिया एक अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी है और ये भारत देश की नम्बर वन टेनिस खिलाडी रह चुकी है. इन्होंने अपने कारीयर के सफ़र में 6 ग्रेंड स्लैम हासिल किए है ये एकल और युगल दोनों में ही पहले स्थान पर रह चुकी है . सानिया का टेनिस करियर इस प्रकार से रहा

·        इन्होने 6 वर्ष की उम्र से ही टेनिस का प्रशिक्षण लेना शुरू कर दिया था, शुरुआत में  इन्हें इनके पिता के द्वारा प्रशिक्षण दिया गया था .

·        सानिया ने टेनिस के लिए देश विदेश से प्रशिक्षण प्राप्त किया और अपनी कला को आगे पहुचाया . सानिया के टेनिस प्रशिक्षण के पहले शिक्षक महेश भूपति है . इन्होंने अपने खेल से कई ख़िताब जीते और देश का नाम पुरे विश्व में रोशन किया .

·        इन्होंने ने साल 1999 में जकार्ता में विश्व जूनियर चैम्पियनशिप में अपना पहला अंतर्राष्ट्रीय टूर्नामेंट खेला और भारत का प्रतिनिधित्व किया.

  • 2003 में विंबलडन चैम्पियनशिप गर्ल्स डबल्स ख़िताब
    जीता
    और 2003 में यू एस ओपन गर्ल्स डबल्स के सेमीफायनल में शामिल हुई

·        2002 में एशियाई खेलो में मिक्स युगल स्पर्धा में लिन्डर पेस के साथ कस्य पदक जितने में मदद की .

·        
इसके बाद साल 2003 में इनकी सफलता कम नहीं हुई और इन्होंने एफ्रो एशियाई खेलो में चार स्वर्ण पदक जीते. इसके तुरंत बाद साल 2004 में इन्होने 6 आईटीएफ एकल ख़िताब जीते .

·        2005 में ऑस्ट्रेलियाई ओपन में जाने के बाद , इन्होने पहले और दुसरे राउंड में पेट्रो मंडूला और सिंडी वाटसन को हराया .

·        
2005 में सानिया टेनिस ग्रैंड स्लैम टूर्नामेंट के तीसरे और चौथे राउंड में पहुच कर टेनिस की दुनिया में अपने नाम का इतिहास बना दिया.

·        2006 के ऑस्ट्रेलियाई ओपन में हुबर के साथ युगल ख़िताब जीता . इसके बाद इन्होंने दुबई टेनिस चैंपियनशिप में खेला, लेकिन मार्टिना हिंगिस से हार गई .

·        
एशियाई खेलो में मिश्रित युगल में गोल्ड पदक जीता और महिला एकल और टीम में रजत पदक जीता .

·        2007 इनके करियर का गोल्डन टाइम साबित हुआ . इन्होने एकल रेंकिंग में विश्व में 27 वे नम्बर पर अपनी जगह बनाई . 2007 में इन्होने 4 युगल ख़िताब जीते.

·        
इसके बाद इन्होंने पेस के साथ एशियाई खेलो में भाग लिया और कास्य पदक जीता. इसके बाद इन्होंने 13 वर्षीय रुसी प्लेयर एलिसा क्लेबनोवा के साथ युगल जूनियर टूर्नामेंट में ग्रेड स्लैम का ख़िताब जीता. सानिया अब तक 21 आईटीएफ खिताब प्राप्त कर चुकी है

·        
2008 में इन्हें कलाई में चोट लग जाने के कारण समस्या का सामना करना पढ़ा, इस कारण वे खेलने में असमर्थ थी . उन्हें फ्रेंच ओपन और ऑस्ट्रेलियन ओपन टूर्नामेंट से बाहर होना पढ़ा . और इन्हे बीजिंग ओलंपिक से भी बाहर होना पढ़ा . इसके बाद 2009 में इन्होने फिर से वापसी कर ऑस्ट्रेलियाई ओपन में महेश भूपति के साथ मिक्स्ड डबल में पहला ग्रेंड स्लैम जीता .

·        
2011 में एकल स्पर्धा में ख़राब खेलने के कारण ये पहले दौर से बाहर हो गई, तो इन्होने युगल स्पर्धा में अधिक ध्यान दिया और 2011 में ही अपनी साथी एलिना वेसनिना के साथ फ्रेंच ओपन में फाईनल में पहुची .

·        
2013 में सानिया और मैटेक सैंड्स ने दुबई ड्यूटी फ्री टेनिस चैंपियनशिप जीती, लेकिन इन्हें ग्रैंड स्लैम नही मिला. फिर इन्होने दुसरे साथी कारा ब्लैक के साथ खेलना शुरू किया और इनकी इस जोड़ी ने स्पर्धा में अपनी जगह बनाई .

·        
सानिया और कारा ने 2014 में यू एस ओपन के सेमीफायनल में पहुचे और ब्रूनो सोरेस के साथ मिश्रित युगल ख़िताब जीता . 2014 में ही इन्हें इंटरनेशनल प्रीमियर टेनिस लीग में भाग लिया और इस लीग में विजय प्राप्त की .

·        
सानिया ने 2015 में चीनी खिलाडी हसीह सु वेई के साथ मिलकर और फिर बेथानी मैटेक सैंड्स के साथ मिलकर काम किया . मार्टिना हिंगिस के साथ इनकी साझेदारी एक सफल निर्णय साबित हुई और इस जोड़ी ने इन्डियन वेल्स और 2015 मियामी ओपन में जीत को अपने नाम कर लिया .

·        2015 में सानिया ने हिंगिस के साथ सीधे सेट में विजय प्राप्त की और महिला युगल में पहली ग्रेंड स्लैम जीत प्राप्त की . 2016
में भी सानिया और हिंगिस की जोड़ी ने ऑस्ट्रलियाई ओपन महिला युगल चैंपियनशिप में जीत हासिल की, लेकिन 2017 में इन्हें हार का सामना करना पढ़ा .

·        2018 में घुटने में चोट लगने के कारण ये आस्ट्रेलियाई ओपन में शामिल होने में असमर्थ रही .

 

 अवार्ड्स और अचीवमेंट Awards and Achievement

सन (Year)

अवार्ड्स (Awards)

2003

टाइटल
विम्बेलडन चैंपियनशिप गर्ल्स डबल्स, रशिया की एलिसा क्लेयबनोवा
के साथ

2004

एशिया टेनिस
चैम्पियनशिप में रनरअप .

2005

2005 में पहली
महिला खिलाडी जो कि यू
एस ओपन में ग्रैंड स्लैम टूर्नामेंट के चोथे राउंड
में पहुची थी , 2005 में ये ऑस्ट्रेलिया ओपन
के तीसरे राउंड में पहुची , 2005 में ही ये पहली
महिला थी जिन्होंने WTA सिंगल
टाइटल प्राप्त किया

2006

दोहा एशिया
गेम में इन्होने महिला कि एक मात्र
श्रेणी में सिल्वर मैडल जीता . और मिक्स्ड डबल
केटेगरी में लीएंडर पेस के साथ खेल
कर गोल्ड मैडल प्राप्त किया

2006

भारत सरकार
द्वारा पद्मश्री अवार्ड का सम्मान प्राप्त
हुआ .

2007

 यू एस ओपन
में महेश भूपति के साथ मिक्स्ड
डबल्स  क्वार्टरफाइनल के तीसरे राउंड
में पहुची

2008

इन्हें चेन्नई
के एम जी आर
एजुकेशन और रिसर्च इंस्टिट्यूट
यूनिवर्सिटी द्वारा डाक्टर ऑफ़ लैटर की डिग्री से
सम्मानित किया गया . 2008 में ही ये होबार्ट
के क्वार्टरफाइनल में नम्बर 6 में पहुची . ऑस्ट्रेलिया ओपन में तीसरे राउंड में पहुची , इसके साथ ऑस्टेलिया ओपन के मिक्स्ड डबल
में अपने पार्टनर महेश भूपति के साथ रनर
अप रही

2009

ऑस्ट्रेलिया ओपन
के मिक्स्ड डबल में  महेश
भूपति के साथ 
फर्स्ट ग्रैंड स्लैम का टाइटल प्राप्त
हुआ , इसके बाद वे बैंकाक के  पट्टाया में महिला ओपन टूर्नामेंट में पहुची

2004

इन्डियन गवर्नमेंट
के द्वारा अर्जुन अवार्ड
से सम्मानित किया
गया

2006

टेनिस खिलाडी
के लिए चोथा सबसे बड़ा सम्मान पद्मश्री
से नवाजा गया

2014

तेलंगाना सरकार
ने राज्य की ब्रांड एम्बेसीडर
के लिए चुना .

2015

राजीव गाँधी
खेल रत्न अवार्ड

2016

रिपब्लिक ऑफ़
इंडिया द्वारा तीसरा उच्च नागरिक सम्मान पदम् भूषण
प्राप्त हुआ

2015

स्विस टेनिस
प्लेयर मर्थिंगा हिंगिस के साथ खेल
कर विम्बेलडन चैंपियनशिप जीती

इसके आलावा इन्हें विभिन्न खेलों में 2 गोल्ड , 3 सिल्वर और 3 ब्रोंज मेडल्स प्राप्त हुए है ये क्रमशः 2002 , 2006 , 2010 और 2014 में प्राप्त हुए है. इसके आलावा इन्होंने 2010 के कॉमन वेल्थ गेम में  सिल्वर मैडल महिला सिंगल में और ब्रोंज मैडल महिला डबल्स में प्राप्त किए .

नेट वर्थ (Sania Mirza Net Worth)

सानिया ने खेल जगत में अपनी विशेष पहचान बनाई है, ये सबसे अधिक यू एस डॉलर कमाने वाली महिला है . इनकी कुल संपत्ति इस प्रकार है.

आय (Salary )

 N / A

कुल संपत्ति ( Net Worth )

$8 मिलियन

सानिया के बारे में कुछ बातें (Some other information about
Saniya)

·        
सानिया को
स्मोकिंग करना बिलकुल पसंद नही है और ही ये अल्कोहल का सेवन करती है .

·        
साल 2010 में इनके प्रदर्शन के
कारण इन्हें गूगल पर सर्वाधिक सर्च किया गया. कभी खुशी कभी गम मूवी सानिया को बहुत पसंद है ये इन्होने 30 बार देखी है .

·        
इन्हें 2013 में साउथ एशिया के
गुड विल एम्बेसडर के लिए चुना गया .

·        
ये
पहली महिला टेनिस खिलाडी है जिसने एक मिलियन यू एस डॉलर जीते है. एक जुनियर प्लेयर के रूप में इन्होने 10 सिंगल और 13 डबल्स टायटल जीते है .

·        
ये
पहली महिला खिलाडी है जिसे WTA टायटल प्राप्त हुआ है , और 2003 से 2013 तक ये भारत की नम्बर 1 खिलाडी रह चुकी है . इन्होने आज तक 35 देशो में भ्रमण किया है और इन्हें कई कंपनी स्पोन्सर करती है जैसे बौर्न वीटा , एडीडास , स्प्राइट आदि .

·        
टेनिस के
बाद सानिया इंटीरियर डेकोरेशन और टेनिस अकादमी खोलना चाहती है . इनकी इस सफलता का सारा श्रेय वे अपने माता पिता , गुरु और अपने ईश्वर को देती है .

·        
ये
भगवान् में आस्था रखती है और  दिन में 5 बार प्रार्थना करती है, उनका मानना है कि यह ध्यान करने के समान है.

·        
इन्होने अपने देश का
नाम पुरे विश्व में रोशन किया है, ये देश का अभिमान है , इनकी सुरक्षा के लिए आर्मी के दो जवान हमेशा इनके साथ होते है .

·        
सानिया के
फिजियोथेरेपिस्ट का नाममिस्टर बद्रीनाथ है .  

·        
सानिया का
लक्ष्य है कि वे टॉप 50 टेनिस महिला खिलाडी की सूचि में आए और 3 से 4 साल तक अपनी जगह बनाए रखे .

·        
सानिया का
कहना है किहमें कभी हारने और जीतने की परवाह नही करना चाहिए, कड़ी मेहनत करना चाहिए सफलता अपने आप मिल जाएगी ”.

·        
ये
अपनी दिनचर्या में 3 घंटे अपनी शारीरिक फिटनेस के लिए देती है इसमें सब प्रकार की ट्रेनिंग शामिल होती है , और सप्ताह में 3 से 4 बार जिम जाती है , और स्पीड वर्क करती है ताकि शरीर में फुर्ती बनी रहे .

·        सानिया मिर्ज़ा अक्टूबर 2018 में बेबी को
जन्म देने वाली है , ये शोएब और सानिया का पहला बच्चा है , दोनों इसके लिए काफी उत्साहित है .

सानिया से जुड़े कुछ विवाद

सानिया मिर्ज़ा अपने जीवन के सफ़र में कई विवादों से घिरी रही है . जबसे वे टेनिस स्टार बनी है और लाइम लाइट में आई है उन्हें कई समस्याओ और विवादों का सामना करना पढ़ा है

शोर्ट स्कर्ट

सानिया मुस्लिम धर्म से है और मुस्लिम में पर्दा प्रथा को मान्यता दी जाती है , इसलिए कुछ मुस्लिम धर्म के संगठन के द्वारा उनके टेनिस खेलते समय पहने जाने वाले शोर्ट स्कर्ट पर आपत्ति जताई. मुस्लिम समुदाय के लोगों का मानना था , कि टेनिस की जो पोशाक है वह मुस्लिम धर्म के दायरे में नही आती है . फिर जमीअत उलेमा हिन्द ने इस बात की पुष्ठी की , कि वे किसी को भी खेलने पर इस तरह प्रतिबंध नही लगा सकते. .

राष्ट्रीय ध्वज अपमान

2008 में एक समारोह के दौरान राष्ट्रीय ध्वज तिरंगे  पर पैर रखने के कारण उन पर मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट द्वारा सेक्शन 2 के तहत प्रिवेंशन ऑफ़ इन्सल्ट एक्ट 1971  में केस दर्ज किया गया .

राशन कार्ड से विवाद

ये एक बहुत बड़ी विवादित बात थी कि सानिया की फोटोग्राफ एक सफ़ेद राशन कार्ड पर थी , जो परिवार को सामाजिक सुरक्षा फायदे , हेल्थ बेनिफिट , हेल्थ इन्शुरन्स , उच्च सबसिडी और चावल केवल 2 रूपये किलोग्राम पर उपलब्ध कराती है .

धमकी भरे फोन काल

2008 में एक 28 वर्षीय सिविल इंजिनियरिंग के विद्यार्थी मोहम्मद अशरफ को गिरफ्तार किया गया , वह सानिया को फोन पर धमकी दे रहा था, कि वो अपनी सगाई सोहराब मिर्ज़ा के साथ तोड़ दे . अशरफ ने सानिया के घर बंजारा हिल्स में जाकर भी बहुत हंगामा किया , सानिया के पिता से इस सगाई को तोड़ने की धमकी दी , उसका कहना था कि वो सानिया से प्रेम करता है इसलिए वे इस रिश्ते को तोड़ दे .

सोहराब से सगाई

सानिया और सोहराब बचपन से एक दुसरे को जानते थे . इनकी सगाई हुई और फिर टूट गई इस बात के लिए सानिया का कहना था कि वे सिर्फ अच्छे दोस्त है हम शादी नही कर सकते है परन्तु यह एक विवाद का विषय बना.

पाकिस्तान की बहु

पाकिस्तान में शादी के बाद सानिया के भारत का स्थानीय नागरिक होने के सवाल पर भी काफी विवाद छिड गए. तेलंगाना के एक राजनेता के इन्हें राज्यसभा में ही पाकिस्तानी बहु करार दिया यह विवाद कई दिनों तक चलता रहा.

सानिया मिर्ज़ा लेटेस्ट न्यूज़ (सन्यास की खबर)

जनवरी 2022 में सानिया मिर्ज़ा ने ऐलान किया की वो जल्द ही सन्यास लेकर खेल को अलविदा कहने वाली है 2022 में खेला जाने वाला मैच उनका अंतिम मैच होगा

 

By Neha

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *