UP Panchamrut Yojana पंचामृत योजना क्या है लाभ और आवेदन प्रक्रिया जाने।

Panchamrut Yojana Online Registration 2022, UP Panchamrut Yojana Benefits, यूपी पंचामृत योजना में ऑनलाइन आवेदन‌ करने के तरीके, उद्देश्य, लाभ और पात्रता के विषय में जानकारी देने जा रहे हैं। 

UP Panchamrut Yojana kya hai?

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ के द्वारा पंचामृत योजना को शुरू करने की घोषणा की गई है। राज्य के गन्ना विभाग ने गन्ने की उपज में बढ़ोतरी करने और आमदनी दोगुनी करने के लिए पंचामृत योजना की शुरुआत की है। 

इस पंचामृत योजना के माध्यम से गन्ना के उत्पादन लागत में कमी होगी। पांच तकनीक ट्रेंस प्रबंध कचरा मल्चिंग पेड़ी प्रबंध ड्रीप सिंचाई, और सह फसल इन पांच विधि को मिलाकर ही पंचामृत योजना के नाम से शुरू किया गया है। 

इस पांच विधि से पानी की खपत 50 से 60 फ़ीसदी कम हो जाएगी और नमी बरकरार रहने के कारण पौधों की पैदावार भी अच्छी होगी। इस योजना के अंतर्गत राज्य के कुल 2028 किसान का चयन किया जाएगा। 

शरद ऋतु के आने से पहले भूखंड मॉडल का विकास किया जाएगा जिसका न्यूनतम क्षेत्र आधा हेक्टेयर होगा। मध्य और पश्चिम उत्तर प्रदेश गन्ना विकास परिषद में कम से कम 15 भूखंड और पूर्वी उत्तर प्रदेश में प्रत्येक 10 भूखंड का चयन किया जाएगा। गन्ना विकास विभाग के द्वारा जिलावार लक्ष्य निर्धारित किया जाएगा। 

उत्तर प्रदेश के गन्ना विभाग अधिकारी गेहूं की कटाई के बाद गन्ने की खेती की उपज बढ़ाने और किसानों को जागरूक करने के लिए भिन्न भिन्न जिलों के गांवों में दौरा कर रहे हैं। 

पंचामृत योजना के माध्यम से किसान को बाजार की मांग के अनुसार गन्ने के साथ-साथ तिलहन, सब्जी और दाल उगाने की अनुमति भी दी जाएगी। किसानों की उपज का सही दाम सरकार के द्वारा सुनिश्चित किया जाएगा। 

UP Kisan Kalyan Mission 2022 : कृषि मेला में कैसे करें ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन, जाने लाभ और पात्रता

UP Panchamrut Yojana का उद्देश्य क्या है

Panchamrut Yojana का मुख्य उद्देश्य गन्ने की खेती में नई तकनीक का उपयोग कराना है जिसके माध्यम से गन्ने के उपाय बढ़ाने और बसंत कालीन गन्ने की खेती से अधिक हो। साथ ही गन्ने के साथ धनिया, लहसुन, मटर, टमाटर इत्यादि की खेती से किसान की आय में वृद्धि हो सकेगी। 

पंचामृत योजना के माध्यम से गानों की उत्पादन लागत में कमी की जाएगी, और पांच विधि ट्रेंच प्रबंध, कचरा मल्चिंग, पेड़ी प्रबंध, ड्रिप सिंचाई और सह-फसल के द्वारा भूमि की उर्वरता शक्ति बढ़ाने का प्रयास किया जाएगा। 

इस योजना का मुख्य उद्देश्य पानी की बचत करना भी है और गन्ने की पराली और पत्तियों के माध्यम से लागत को और कम करना है। पंचामृत योजना के लिए 2028 कृषक का चयन किया जाएगा, जिसके लिए आदर्श मॉडल प्लॉट का लक्ष्य निर्धारित किया जाएगा। 

कीटनाशक के उपयोग को कम करना और एक से अधिक फसल की खेती को बढ़ावा देना साथ ही किसान की आय में भी बढ़ोतरी करना है। खेत में पति को जलाने से जो प्रदूषण होता है उसे भी नियंत्रित किया जाएगा। 

पंचामृत योजना से होने वाला लाभ और इनकी विशेषताएं 

Panchamrut Yojana के द्वारा किसान को न्यूनतम लागत में अधिकतम उत्पादन होगा और उचित मूल्य भी प्राप्त होगा। 

किसान के आमदनी दोगुनी करना ही सरकार का लक्ष्य है, इस योजना का लाभ उत्तर प्रदेश के किसानों को मिलेगा। 

उत्तर प्रदेश सरकार पंचामृत योजना के अंतर्गत किसान को गन्ना की खेती करने के लिए प्रोत्साहन भी दे रही है। 

इस योजना के माध्यम से पानी की बचत की जाएगी और लागत को कम किया जाएगा। 

कीटनाशक के उपयोग को कम किया जाएगा ऑर्गेनिक की पराली का उपयोग लागत को कम करेगा। प्रदूषण को नियंत्रित करने के लिए जो पत्ते जलाने पड़ते हैं, उनकी आवश्यकता नहीं पड़ेगी। 

इस योजना के अंतर्गत खेती में नई नई तकनीक का प्रयोग किया जाएगा जिससे किसानों की आय में बढ़ोतरी होगी।

UP Panchamrut Yojana के लिए जरूरी पात्रता 

Panchamrut Yojana मैं लाभ लेने के लिए आवेदक को उत्तर प्रदेश का निवासी होना चाहिए और उसे किसान होना चाहिए। इसके साथ साथ आवेदक के पास अपनी जमीन होना चाहिए। सरकार की ओर से पंचामृत योजना के लिए कोई निश्चित पात्रता का प्रावधान नहीं रखी गई है । 

UP Panchamrut Yojana में आवेदन करने के लिए प्रक्रिया 

जानकारी के लिए आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश सरकार की ओर से अभी पंचामृत योजना को शुरू करने की घोषणा की गई है और इस से होने वाला लाभ और उद्देश्य के बारे में जानकारी दी गई है। 

सरकार की ओर से आवेदन करने के लिए ऑफिशियल वेबसाइट अभी लॉन्च नहीं किया गया है यदि ऑफिशियल वेबसाइट लॉन्च हो जाता है तो हम आपको सूचित कर देंगे।

UP Panchamrut Yojana से संबंधित key highlights 

▪️योजना का नाम – पंचामृत योजना 

▪️उद्देष्य – गन्ने का अधिक उत्पादन तथा आय दुगुनी करना 

▪️विभाग – गन्ना विकास विभाग उत्तर प्रदेश 

▪️आधिकारिक वेबसाइट – जारी नहीं किया गया 

WhatsApp Group join करने के लिए नीचे दिए गए बटन पर क्लिक करें। 

Telegram Group join करने के लिए नीचे दिए गए बटन पर क्लिक करें। 

डिस्क्लेमर 

वेबसाइट का मुख्य उद्देश्य सरकारी तथा गैर सरकारी योजनाओं से जुड़ी जानकारी आप तक पहुंचाना है। इस वेबसाइट द्वारा दिए जाने वाले सूचनाएं पूर्णतः निःशुल्क है।

 यह वेबसाइट सरकार द्वारा चलाई जाने वाली वेबसाइट नहीं है, ना ही किसी सरकारी मंत्रालय से उसका कुछ लेना देना है।

 हम पूरी तरह से कोशिश करते हैं कि सटीक जानकारियां पाठकों तक पहुंचे, किंतु इसके बावजूद भी गलती को नकारा नहीं जा सकता । 

आपसे आग्रह है कि हमारे लेख को पढ़ने के बाद आधिकारिक वेबसाइट से जरूर पुष्टि करें। किसी भी प्रकार की त्रुटि के लिए साइट एडमिन जिम्मेवार नहीं होगा । 

आपसे अनुरोध है कि इस वेबसाइट पर दी गई जानकारियों को संबंधित आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर जरूर चेक करें। 

इसे भी पढ़ें।


UP Kisan Kalyan Mission 2022 : कृषि मेला में कैसे करें ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन, जाने लाभ और पात्रता

Jharkhand vaikalpik Kheti yojna 2022 क्या है,  आवेदन की प्रक्रिया क्या है, जानिए इसके बारे में

MP Mukhyamantri Krishak Udyami Yojana 2022 : ऑनलाइन आवेदन और स्टेटस जांच करने की प्रक्रिया

Himachal Pradesh Parvat Dhara Yojana 2022 क्या है इसका उद्देश्य, संपूर्ण जानकारी 

Bihar Krishi Vaniki Yojana 2022 : मुख्यमंत्री कृषि वानिकी योजना से क्या होगा लाभ, जाने 

ESM Daughters Yojana : बेटियों की शादी करने के लिए ₹50000 सरकार देगी, जाने प्रक्रिया

मध्य प्रदेश सरकार के द्वारा शुरू किया जाएगा अन्नदूत योजना, मिलेगा रोजगार


Kisan Drone Yojana में ड्रोन खरीदने पर मिलेगी 5 लाख की सब्सिडी, जाने लाभ 


मुख्यमंत्री डिजिटल सेवा योजना 2022: Free Smartphone Yojana, आवेदन प्रक्रिया और लाभार्थी सूची 

बिहार मुख्यमंत्री ग्रामीण आवास योजना क्या है और कैसे अप्लाई करें 

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना क्या है? 

By Neha

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *