Mulayam Singh Yadav
Biography in hindi |
मुलायम सिंह
यादव का जीवन परिचय

मुलायम सिंह यादव का जीवन परिचय (राजनीतिक करियर, परिवार, आयु, बेटा , पत्नी, कुल संपत्ति, ताज़ा खबर,) (Mulayam Singh Yadav
Biography in hindi) (Age Wife, Son Controversy, Latest News,)

मुलायम सिंह यादव उत्तर प्रदेश में तीन बार मुख्यमंत्री रह चुके हैं। साल 1989 में वह पहली बार मुख्यमंत्री के रूप में चुने गए थे, उनका कार्यकाल 1 साल 201 दिन तक चला था।

उत्तर प्रदेश की राजनीति में अपना स्थान बनाने वाले मुलायम सिंह यादव उत्तर प्रदेश के तीन बार मुख्यमंत्री रह चुके हैं। मुलायम सिंह यादव पूरे राज्य में किसान नेता धरती पुत्र मुलायम के नाम से जाने जाते हैं। मुलायम सिंह उत्तर प्रदेश के इटावा जिले के सैफई क्षेत्र के एक मध्यमवर्गीय किसान परिवार से आते हैं। यादव ने उत्तर प्रदेश से लेकर केंद्र तक की राजनीति में अपना किस्मत आजमाया है। मुलायम सिंह यादव ने भारत सरकार के केंद्र मंत्रालय में रक्षा मंत्री जैसे बड़े पदों का कार्यभार संभाला है।

मुलायम सिंह यादव की राजनीतिक जीवन का अंदाजा आप इससे भी लगा सकते हैं कि मुलायम सिंह ने अपनी खुद की पार्टी समाजवादी पार्टी का गठन उत्तर प्रदेश में किया है, जो कि राज्य की सबसे बड़ी पार्टियों में से एक है। मुलायम सिंह यादव का नाम उत्तर प्रदेश में ही नहीं बल्कि पूरे देश के बड़े नेताओं में शामिल होता है। मुलायम सिंह ने अपने करियर की शुरुआत एक शिक्षक के रूप में की थी, जो आज के समय में दिग्गज नेताओं में से एक थे।

समाजवादी पार्टी ने कई बार उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में जीत हासिल की है। मुलायम सिंह वर्तमान में समाजवादी पार्टी के संरक्षक हैं, आइए जानते हैं मुलायम सिंह यादव के जीवन परिचय के बारे में विस्तार से जाने।

 

मुलायम सिंह यादव का प्रारंभिक जीवन Early Life of Mulayam Singh Yadav

मुलायम सिंह यादव का जन्म 22 नवंबर 1939 को उत्तर प्रदेश के इटावा जिले के सैफई गांव में हुआ था। यह एक मध्यमवर्गीय परिवार से आते हैं, उनके पिता का नाम सुघर सिंह यादव जो एक किसान थे और इनकी माता का नाम मूर्ति देवी था जो एक ग्रहणी थी। मुलायम सिंह यादव की शादी मात्र 18 साल में ही हो गई थी।

इनकी दो शादियां हुई थी, मुलायम सिंह की पहली पत्नी का नाम मालती देवी था और यह अखिलेश यादव की माता थी। मालती देवी का लंबी बीमारी के कारण साल 2003 में निधन हो गया था। मालती देवी के निधन के बाद साल 2003 में मुलायम सिंह ने साधना गुप्ता से दूसरी शादी की, साधना और मुलायम सिंह के बेटे का नाम प्रतीक यादव है।

मुलायम सिंह यादव की शिक्षा Education of Mulayam Singh Yadav

मुलायम सिंह यादव की शिक्षा की बात करें तो उन्होंने अपनी प्रारंभिक शिक्षा इटावा से की है। मैनपुरी से इंटरमीडिएट परीक्षा पास करने के बाद आगरा विश्वविद्यालय से स्नातक की पढ़ाई पूरी की है, इन्होंने परास्नातक की डिग्री की हुई है। राजनीति में आने से पहले मुलायम सिंह यादव एक अध्यापक के रूप में काम करते थे और इंटर कॉलेज में छात्रों को पढ़ाया करते थे। 

मुलायम सिंह यादव की राजनीतिक करियर Political Career of Mulayam Singh Yadav

मुलायम सिंह यादव ने अपने राजनीतिक करियर की शुरुआत 1976 में की थी। साल 1976 में पहली बार उन्हें विधानसभा के लिए चुना गया था। विधानसभा में उनकी राजनीतिक करियर की पहली सीढ़ी थी, जिसके बाद उनके कदम राजनीति में आगे बढ़ते गए और वे 1977 में उत्तर प्रदेश के पहले राज्य मंत्री बने थे। 1980 में लोक दल के नेताओं ने उन्हें पार्टी के अध्यक्ष के रूप में चुना। इसके बाद 1982 से 1985 तक मुलायम सिंह यादव ने उत्तर प्रदेश विधानसभा परिषद में विपक्ष नेता के रूप में अपनी अहम भूमिका निभाई। 1989 उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव में उनकी पार्टी ने बहुमत से जीती और इसी साल मुलायम सिंह को पार्टी ने मुख्यमंत्री के रूप में चुना गया था। 1990 में मुलायम सिंह ने लोक दल पार्टी से इस्तीफा देने के बाद जनता दल पार्टी में शामिल हो गए थे। कन्नौज और संभल दोनों लोकसभा सीट मुलायम सिंह यादव ने जीती और 2003 में एक बार फिर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री के रूप में चुने गए। समाजवादी पार्टी को उच्च शिखर तक पहुंचाने में मुलायम सिंह ने अपनी अहम भूमिका निभाई है। समाजवादी पार्टी के बाद उत्तर प्रदेश की सबसे बड़ी पार्टी बहुजन समाजवादी पार्टी मानी जाती है। जिसमें मायावती मुलायम सिंह यादव की सबसे बड़ी प्रतिद्वंदी हैं।

समाजवादी
पार्टी का गठन
Formation of
Samajwadi Party

समाजवादी पार्टी की गिनती राजनीति में बड़े पार्टियों में से एक थी। इस पार्टी की नींव मुलायम सिंह यादव ने रखी थी। साल 1992 में समाजवादी पार्टी का गठन किया था। समाजवादी पार्टी आज पूरे देश में अपना नाम बना चुकी है, जिसका श्रेय मुलायम सिंह को जाता है।

 

मुलायम सिंह कितनी बार मुख्यमंत्री बने How many
times Mulayam Singh became Chief Minister of UP.

मुलायम सिंह यादव उत्तर प्रदेश में तीन बार मुख्यमंत्री रह चुके हैं। साल 1989 में वह पहली बार मुख्यमंत्री के रूप में चुने गए थे, उनका कार्यकाल 1 साल 201 दिन तक चला था। इसके बाद वे दूसरी बार 1993 में मुख्यमंत्री के लिए चुने गए, तब उनका कार्यकाल 1 साल 6 महीने के लिए रहे इसके बाद एक बार फिर साल 2003 में मुख्यमंत्री के लिए चुने गए थे।

 

मुलायम
सिंह यादव का निधन
Mulayam
Singh Yadav passes away

समाजवादी पार्टी के संरक्षक, मुलायम सिंह यादव उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और केंद्र में रक्षा मंत्री रह चुके मुलायम सिंह यादव की एक लंबी बीमारी के चलते 10 अक्टूबर 2022 को निधन हो गया, वे 82 साल के थे और काफी समय से गुरुग्राम मेदान्ता हॉस्पिटल में इनका इलाज चल रहा था।

इसे भी पढ़े

लालू यादव का जीवन परिचय

 

By Neha

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *