Graduate Chai Wali Jivani | ग्रेजुएट चाय वाली जीवनी

Bihar ki
Graduate Chai Wali Priyanka Gupta Jivani |
बिहार की ग्रेजुएट चाय वाली प्रियंका गुप्ता की जीवनी

आपने एमबीए चायवाला का नाम तो सुना
ही है? नहीं सुना है तो कोई बात नहीं। चायवाला का नाम तो सुना ही होगा,क्योंकि 2014 से चाय वाला शब्द तो हम सभी के कानों तक पहुंच ही गई है।


Graduate Chai Wali Jivani | ग्रेजुएट चाय वाली जीवनी


प्रियंका गुप्ता जो कि एक इकोनॉमिक्स ग्रेजुएट हैं अपने दो साल के कड़ी मेहनत के बाद उन्हें बैंक के प्रतियोगी परीक्षा में सफलता नही मिल पाई, कोरोना के कारण भी उन्हें दो साल तक जॉब नहीं मिला। बाद में उन्होंने हार मानते हुए पटना वूमंस कॉलेज के समीप एक चाय का स्टॉल लगाने का सोचा। फिर क्या, अपने मजबूत इरादों से वह एक मिसाल के तौर लोगों के लिए प्रेरणा बन रही है। वह कहती है कुछ समय पहले मैं धूप में जाने से डरती थी लेकिन अब मैं पूरा दिन इस कड़कड़ाती गर्मी के बीच खड़ी रहती हूं।

हालांकि जब उनसे पूछा गया कि उन्हें इसकी प्रेरणा कहाँ से मिली है तो उन्होंने इसका जवाब देते हुए कहा कि उनके प्रेरणा के स्रोत एमबीए चायवाला के फाउंडर प्रफुल्ल बिलोरे हैं,उन्होंने आगे कहा कि वह उनकी प्रेरणादायक वीडियो को देखती और उनके जीवनी के बारे में पढ़ती। उसके बाद उन्होंने यह फैसला लिया।
आगे
उन्होंने कहा कि हम लोगों ने चायवाला नाम बहुत सुना है अब एक चायवाली भी हैं।

आगे उन्होंने अपने बिजनेस के संबंध में कहा कि यह इतना आसान नहीं था, मैं कड़कड़ाती धूप में हफ्तों यहां से वहां भटकती रही। पीएम मुद्रा लोन के लिए बैंक गई।परंतु बैंक की तरफ से तमाम तरह की कागजात मांगे गए। इनकम टैक्स रिटर्न, बिज़नेस प्रूफ,बिज़नेस प्रोपोजल प्लान, लोकल रेसिडेंट प्रमाण इत्यादि। कुछ दिनों के बाद मैं काफी हेल्पलेस महसूस करने लगी, लेकिन मैंने अपना जज्बा कायम रखा और प्रयास करती रही। अंत मे, मुझे 21 मार्च को मेरे ही एक साथी ने मुझे ₹30,000 उधार दिया जिसके बाद मैं जरूरत की सारी चीजें खरीदी और 11 अप्रैल से पटना वूमंस कॉलेज के नजदीक लगाना शुरू कर दिया। अब लोगों के द्वारा खूब प्रशंसा मिल रही है।

ग्रेजुएट चाय वाली के नाम से प्रसिद्ध प्रियंका गुप्ता क्यों शरू किया टी स्टॉल

 

बेरोजगारी
और तंगी किसी इंसान को कुछ भी करने पर मजबूर कर सकती है
जहां एक ओर कुछ युवा नौकरी ना मिलने पर हताश हो जाते हैं तो वहीं
दूसरी ओर कुछ युवा ऐसा काम कर जाते हैं जो सबके लिए बड़ा उदाहरण बन कर सामने आते
हैं
ऐसा ही एक नाम है बिहार के पटना की रहने वाली प्रियंका गुप्ता का.
ग्रेजुएट होने के बाद भी नौकरी ना मिलने पर प्रियंका गुप्ता ने चाय की दुकान खोलने
का फैसला किया. आज प्रियंका ‘ग्रेजुएट चाय वाली’ के नाम से मशहूर हो गई हैं

ग्रेजुएट चाय वाली के नाम से प्रसिद्ध प्रियंका गुप्ता की टी स्टॉल कहाँ है

बिहार
की राजधानी पटना के सबसे VIP इलाका बेली
रोड पर पटना वीमेंस कॉलेज के ठीक सामने प्रियंका गुप्‍ता ने चाय का दुकान खोला है
प्रियंका को यह फैसला लिए अभी ज्यादा समय नहीं हुआ है वह 11 अप्रैल से ही चाय बेचने का काम शरू किया है बड़ी बात ये है कि अर्थशास्त्र में ग्रेजुएट होने के बावजूद भी
प्रियंका को चाय का ठेला लगाने में कोई झिझक या शर्मिंदगी महसूस नहीं होती
वह कहती हैं, “चायवाला हो सकता है तो चायवाली क्यों नहीं हो सकती

 

By Neha

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *